फूल को तोड़कर आप उनकी खूबसूरती को इक्कठा नही कर सकते

- रवीन्द्रनाथ टैगोर

टीम वंदे मातरम् क्यों ?

वन्देमातरम  

2014  का वर्ष वन्देमातरम The Pride Of Nation ट्रस्ट की स्थापना देश की राजनैतिक बदलाव की उन परिस्थितियों में की गई है | जब युवा भारत के वर्तमान सन्दर्भ में विश्व के विकसित देशों की श्रेणी में ला खड़ा करना चाहता है और वसुदेव कुटुम्बकम की भावना को विकसित करना चाह रहा है ताकि लोगो के सामाजिक स्तर में बदलाव लाया जा सके |                                         

अफ़सोस

 15 अगस्त 1947, से आज तक देश में कोई गंभीर परिवर्तन नहीं आया युवा ओर बेरोजगार होता गया सरकारी तो सरकारी , प्राइवेट नौकरियाँ भी छूट गई कुछ महीनों तक लोग पैसे - पैसे को तरस गये |                                                                               

राष्ट्रवाद भावना

देश की जनता में कूट - कूट कर भरी है | इसका बड़ा उदाहरण पुलवामा  अटैक के बाद की एकता में देखी गई  और धारा 370 एवं 35 A  को ख़त्म करके एक बड़ी समस्या का निदान हुआ लेकिन  जनता का ध्यान पूरी तरह से देश की  समस्याओं से हट गया युवा क्या बुजुर्ग क्या महिलायें क्या बच्चे सभी ने एक जुटता दिखाई और फिर एक बार हमने सभी समस्याओं को भुला दिया |

क्रांतिकारी भावना के साथ युवा देश के साथ खड़ा रहा फिर भी भूखे पेट कैसे और कब तक ये हो पायेगा |                                          

बाबा साहब

ने संविधान बनाते समय जब संविधान  निर्माण समिति में चर्चा हुई कि मान लिजिये देश में कोई समय एक ही पार्टी पूरी तरह से शासन में जाती है और विपक्ष समाप्त हो जाये तो ऐसी परिस्थिति में            

विपक्ष की भूमिका

कौन निभायेगा ? इस पर बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर का मत था कि जब देश में विपक्ष कमजोर हो जाये या नहीं रहेगा तो जनता स्वयं ही विपक्ष की भूमिका निभायेगी | इस समय हमारा देश उसी परिस्थिति से गुजर रहा है |                                                          

युवा शक्ति

भारत वर्ष में इस समय विश्व की सर्वाधिक युवा आबादी के रूप में मौजूद है | देश में 70 करोड़ के लगभग युवा है | इस शक्ति का प्रयोग ताकतवर राजनेता अपने - अपने हिसाब से करके युवाओं का शोषण करते रहे है | इस कारण देश की वर्तमान मौजूदा स्थिति देश में बदलाव चाहने वाला युवा अब एक दिशा चाहता है तथा मेरा राष्ट्र प्रथम की भावना रखने वाले युवाओं को एक सूत्र बांधने का कार्य टीम वंदे मातरम् कर रही हैं |

टीम वन्दे मातरम्

के लिए इसबात की आवश्यकता  है की युवाओं को उचित मार्गदर्शन राजनैतिक , धार्मिक  और सामाजिक आदि क्षेत्रों में मिले | इन्ही प्रमुख बातों को ध्यान में रखते हुए देश के युवा को एक संतुलित दिशा प्रदान करने के लिए ही                

टीम वंदे मातरम्       

की आवश्यकता पड़ी है |  इस देश के आम नागरिक के अथक प्रयासों , मेहनत के बावजूद भी देश  आज भी विकासशील देशों की  श्रेणी में खड़ा है बल्कि निचे के पायदान पर गया है | सरकारों में जो भी पार्टियाँ आई जाति - धर्म का भेदभाव करके शासन करती रही है | तो आइये अब समय है मजबूत विपक्ष बनाने का                                                             

जनता का विपक्ष बनाने का  

इसमें हम तराशेंगे ऐसे युवाओं को जो निस्वार्थ भाव से केवल स्वयं  देश की सेवा करे बल्कि ऐसे व्यक्तियों को भी जोड़े जो  इस कार्यक्रम में सहभागी बन सके और भारत नवनिर्माण में योगदान दे सके |

" मुश्किलें तो बहुत होंगी - 2

इस राह में साथी , पर जीत ही लेगा एक दिन उस मुकाम को ,

जिसके सपने लिए सो गए सारे क्रांतिवीर ,

बाकी है अभी मेरे देश में कुछ भगत सिंह , अश्फाक , चंद्र शेखर और उधम सिंह जो बदल कर रख देंगे मेरे देश की तक़दीर भी और तस्वीर भी | "

वन्देमातरम साथियों ,

आपका स्वागत है |

संगठित रहोगे - सुरक्षित रहोगे


Login

Need an account? Register


Forgot Password

Need an account? Sign Up